HI/690327 प्रवचन - श्रील प्रभुपाद हवाई में अपनी अमृतवाणी व्यक्त करते हैं

From Vanipedia

Nectar Drops from Srila Prabhupada
हमने कलियुग के केवल पाँच हजार वर्ष गुजारे हैं । इसके पहले द्वापर-युग था । द्वापर-युग का अर्थ है ८,००,००० साल । और उसके पहले, त्रेता-युग था, जो बारह लाख साल तक चलता रहा । इसका मतलब कम से कम बीस लाख साल पहले, भगवान श्री रामचंद्र इस ग्रह पर उपस्थित थे ।
690327 - प्रवचन, भगवान् रामचंद्र प्राकट्य दिन महोत्सव, राम नवमी - हवाई